हर तरह के सिकवे सह लेते है

हर तरह के सिकवे सह लेते है
हॅसते है रोते है और जिंदगी लो यूही जी लेते है

Har tarah ke sikwe sah lete hai

haste hai aur rote hai jindagi yuhi ji lete hai
करते नहीं दगा दोस्ती में
मिला लेते है जिससे हाथ दोस्ती का उसके हाथ से जहर भी पि लेते है

karte nahi daga dosti me

Mila lete hai jisse hath dosti ka uske hath se jahar bhi pee lete hai